भारतीय सेना है दुनिया की सबसे भ्रष्ट सेना
| 12 Jan 2017

जन उदय : भारतीय सेना की बहादुरी और चरित्र के किस्से इतने है की हजारो किताबे लिखी जा सकती है
कुछ दिनों पहले एक याचिका में सुनवाई करते हुए आज सुप्रीम कोर्ट ने मान लिया है की भारतीय सेना द्वारा पूर्वोतर राज्यों में विशेषकर इम्फाल और मणिपुर में १५२८ निर्दोष लोगो की हत्या की है और इसकी जांच के लिए एक विशेष कमेटी बनाई जाएगी

सुप्रीम कोर्ट ने माना है की भारतीय सेना ने सेना के विशेष कानून का गलत इस्तेमाल किया है वहा होने वाले हत्या बलात्कार में सेना के जवान शामिल है

सेना के जवान सिर्फ पूर्वोतर राज्यों में ही नहीं मानवाधिकारों के हनन की बाते कश्मीर , छातिश्गढ़ , महराष्ट्र , ओड़िसा , झारखंड , बिहार ,वेस्ट बंगाल ,तेलंगाना , मध्य प्रदेश आदि सभी जगह सेना अपने अधिकारों का इसेमाल करती है मजबूर , बेसहारा गरीबो को कारती है , कत्ल करती है .

खैर अभी हाल ही में बी एस ऍफ़ के जवान तेज बहादुर यादव के एक विडियो ने तहलका मचा दिया है और उसके विडियो के बाद कई विडियो सामने आ गए है . देशभक्ति के नाम पर धंधा करने वाली भारत की भाजपा सरकार जो पूर्ण रूप से ब्राह्मणवादी है उस पर कोई असर नहीं पढ़ रहा है

सेना में बड़े अफसर तो हर कदम पर भ्रष्टाचारी होते ही है इनके घरो में सेना के समान से लेकर खाने से लेकर सेना की गाडिया इनके निजी कामो के लिए इस्तेमाल होती है सेना के जवानो को इनकी ड्यूटी खत्म होने के बाद भी इनके घरो के कामो को करते है .

इसके अलावा सेना कंटीन में जिन कम्पनियो से सामान मंगाया जाता है उन कम्पनियो के सामान को कंटीन में लाने के लिए मोटी मोटी रिश्वत अफसरों से लेकर मंत्रियो तक रिश्वत दी जाती है . फल सब्जी , दाल आटा तेल, सबके विक्रेताओ से मोटी रकम वसूली जाती है

सेना की गाडिओ में पेट्रोल , डीजल आदि को बेचने के लिए अफसर गाडी के किलोमीटर हाथ से आगे बड़ा देते है और किलोमीटर के हिसाब से पेट्रोल डीजल की चोरी अफसरों की रजामंदी से होती है .. इसी के साथ गाडिओ को भी खराब या कंडम दिखा दिया जाता है और इनके कबाड़ के भाव बेच दिया जाता है वो भी अपने अपने लोगो को. सेना के अस्पताल में सर्जरी के समान , दवाईया में कमिशन बड़े अफसरों को आता है .. इसके अलावा
सेना में भर्ती बिना पांच दस लाख के नहीं होती सिवाए कुछ अपवादों के ..

हथियार , इंजीनियरिंग सर्विस में लूट की हदे पार हो जाती है ये भविष्य में सेना के अंदर किसी विद्रोह के संकेत है