देश को अधिक सुरक्षित बनाने के लिए बैन की सात देशों की एंट्री: डोनाल्ड ट्रंप
| 30 Jan 2017

वाशिंगटन, 30 जनवरी (एजेंसी)। सात मुस्लिम बहुल देशों के नागरिकों की एंट्री बैन करने के आदेश को लेकर विरोध झेल रहे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने साफ कर दिया है कि उनका यह फैसला किसी धर्म विशेष और समुदाय केे खिलाफ नहीं हैै। वह इस बाबत मीडिया पर भी जमकर भड़के। उन्होंने कहा कि मीडिया इस बाबत उनके खिलाफ दुष्प्रचार कर रहा है। उन्होंने एक बयान में यह भी साफ कर दिया है कि उनके आदेश की सीमा अवधि समाप्त होने के बाद एक बार फिर से सभी देशों के नागरिकों की एंट्री अमेरिका में खोल दी जाएगी।
इस अवधि के दौरान प्रशासन अपनी सुरक्षा नीति तय कर लेगा। डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि उन्होंने यह फैसला केवल अपने देश को सुरक्षित करने के मकसद से लिया है। उन्होंने यह भी कहा कि उनके फैसले से उन 40 देशों के मुस्लिम नागरिकों पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा जहां पर मुस्लिम काफी संख्या में मौजूद हैं। ट्रंप ने कहा कि तय अवधि के बाद एक बार फिर से सभी देशों के नागरिकों को वीजा मुहैया करवाया जाएगा।
अपने बयान में उन्होंने यह भी साफ कर दिया कि 90 दिनों की अवधि के दौरान देश को और अधिक सुरक्षित बनाने को लेकर समीक्षा की जाएगी। गौरतलब है कि डोनाल्ड ट्रंप के इस आदेश के खिलाफ अमेरिका में जबरदस्त विरोध प्रदर्शन हो रहा है। इसके अलावा न्यूयार्क की एक कोर्ट ने भी ट्रंप केे आदेश पर फिलहाल रोक लगा दी है। ट्रंप के आदेश को लेकर रविवार को भी जॉन एफ कैनेडी एयरपोर्ट पर विरोध प्रदर्शन हुआ था। यहां पर ट्रंप के आदेश के बाद कुछ लोगों को हिरासत में ले लिया गया था। हालांकि बाद में उन्हें छोड़ दिया गया था।