अंग्रेजी गलत बोलने का डर और शर्म क्यों ??? कही ये षड्यंत्र तो नहीं ताकि आप अंग्रेजी न सीख सके
| 18 Feb 2017

जन उदय :: आप तेलगु गलत बोले , मराठी गलत बोले , पंजाबी को पंजाबा कह दे लेकिन आपको शर्म नहीं आती न ही गलत बोलने में आपको कोई झिझक नहीं होती लेकिन आप अंग्रेजी गलत नहीं बोलना चाहते , और अंग्रेजी को गलत बोलने में आपको इतनी शर्म आती है इतनी तकलीफ होती है जिसका कोई अंदाजा नहीं लगा सकता , बल्कि कुछ लोग तो अंग्रेजी सही न बोल पाने के कारण अपने आपको सबसे ज्यादा दीन हीन समझने लग जाते है ..

सवाल यह है की अंग्रेजी बोलना ही क्यों ?? तो सबसे पहले यह बात है की आपको अंग्रेजी आणि चाहिए , इसके बाद आपको कुछ आता जाता है या नहीं इससे कोई फर्क नहीं पढता इसका मतलब हुआ भारत में अंग्रेजी एक भाषा न हो कर बुद्धि और योग्या की निशानी बन गई है और यह ऐसे ही नहीं बनी है बल्कि अंग्रेजी को इस स्तर तक लाया गया है
आप अंग्रेजी न बोल सके और न ही सीख सके इसके पीछे एक षड्यंत्र है सब हैरान हो जाएंगे की यह षड्यंत्र कैसे हुआ ??

जी हाँ आप अंग्रेजी न सीख पाए इसलिए एक वर्ग या जाति के लोग जो अंग्रेजो के समय में अंग्रेजो से अंग्रेजी में बाते करते थे और यह जान गए थे की अंग्रेजी एक अंतराष्ट्रीय भाषा है और इसके जरिये अपने विचारों को पूरी दुनिया तक पहुचाया जा सकता है यानी सामाजिक राजनैतिक कार्न्ति इस भाषा के अंदर थी अंग्रेजी शिक्षा की ही वजह से थी की नाचित समाज के लोग अंग्रेजो के सामने अपनी बाते रखते थे और उन्होंने अपने समाज के लिए अंग्रेजो से अपने हक प्राप्त कर लिए

जातिवादी लोगो ने यह समझ लिया और मान लिया कि चलो जो हुआ सो हुआ लेकिन आगे गरीब और वंचित समाज के लोग इस भाषा तक नहीं आने चाहिए सो इन्होने वंचित समाज के लोगो को गलत अंग्रेजी बोलने पर मानसिक रूप से प्रताड़ित करना शुरू कर दिया , सिर्फ गलत अंग्रेजी बोलने की वजह से वंचित समाज के लोगो के अस्तित्व को ही हिलाने लगे और धीरे धीरे सही अंग्रेजी का ज्ञान नौकरी में अनिवार्य कर दिया गया यानी कुछ ख़ास पदों से वंचित समाज के लोग बाहर

और ये षड्यंत्र आज भी चलन में है लेकिन जो लोग अंग्रेजी नहीं जानते उनको यह समझ लेनी चाहिए अंग्रेजी के २० से जयादा रूप है और कई भाषा में अंग्रेजी स्क्रिप्ट का प्रयोग किया जाता है वो भी सिर्फ यूरोप और पश्चिमी देशो में है
इसलिए अंग्रेजी आपको सीखनी ही चाहिए क्योकि इसमें मुक्ति छिपी है आप गलत बोले सही बोले और ऐसे लोग जो गलत बोलने पर आप पर हंसते है मजाक उड़ाते है समझ लीजिये आपकी तरक्की से छिड़ रहे है क्योकि जब तक आप बोलेंगे नहीं गलती नहीं करेंगे तब तक आपको सही और ठीक तरह से बोलना नहीं आएगा
इसिये वंचित समाज के लोग इस भाषा को अछि तरह से सीखे