भयंकर परिणाम झेलने होंगे भारत को पाक से युद्ध करने पर ,सौ साल पीछे हो जाएगा भारत और पाकिस्तान
| 23 Feb 2019


जन उदय : जिस तरह भारत और पाक के बीच बयानबाजी हो रही है वह ठीक वैसी ही है जैसे गली मोहल्ले में दो औरते सरकारी नल पर पानी की बाल्टी को भरने को लेकर होती है जो एक दुसरे की अस्मिता और मान सम्मान को ये सोच कर तार तार करती है जैसे की वो सिर्फ दुसरे को अपमानित कर रही है इससे उन्हें खुद कोई असर नहीं पड़ेगा . जबकि तमाशा देखने वाले लोग खूब मज़ा लेते है और और कोशिश करते है की ये तमाशाथोदी देर और चले .

पुलवामा के बाद से भारत और पाक के बीच यही सब कुछ चल रहा है अमरीका और अन्य देश सिवाय रूस के भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढाने में लगे है यानी एक दुसरे को पारे पर चड़ा रहे है ताकि युद्ध और युद्ध के बाद उनके सभी मसले हल हो जाए . पुलवामा काण्ड किसने करवाया इस बात की जानकारी न तो पुलवामा की पुलिस और सेना को है और न ही सरकार को लेकिन भारत का मीडिया ऐसे भोंक रहा अहै जैसे इनके पास सब कुछ जानकारी है या कहे कहा , कैसे शाजिस रची गई किसने क्या किया इन्हें सब मालूम है पुलवामा एक वैसा ही काण्ड है जैसे
कारगिल हुआ था चुनाव से ठीक पहले ये दरसल भाजपा का एक चुनावी स्टंट है लोगो को देशभक्ति की भावना में रंग के वोट लेना चाहते है पुलवामा में तीन महीने पहले से ही चेक पोस्ट का हटा देना , सिक्यूरिटी चेक सब रुक गए थे यानी हमले के लिए भूमि तय्रार की गई और मौका दिया गया ये एक बहुत बड़ा षड्यंत्र हो सकता है वो भी राजनैतिक .
यह बता तो सही है कि मीडिया इस वक्त संघ के इशारे पर काम कर रहा है और उसकी कोशिश है देश में देशभक्ति और मुसलमानों के खिलाफ उन्माद फैला दिया जाए और देश में सिर्फ तनाव ही तनाव हो . दरसल भाजपा चाहता भी यही है क्योकि युद्ध के शोर में ये अपनी नाकामिया छिपाना चाहते हैं .

इस वक्त अगर युद्ध हुआ तो देश पहले से ही गरीबी बेरोजगारी , महंगाई की मार झेल रहा है और युद्ध के होने से भारत लगभग सौ साल पीछे हो जाएगा और अगर सभी नियमो के अनुसार युद्ध नहीं हुआ तो आज जो देश भारत को युद्ध के लिए उकसा रहे है वही भारत को युद्ध का दोषी कहेंगे और युद्ध का हर्जाना भारत को देना होगा यानी हालत हर हाल में खराब होगी . युद्ध भारत को सिर्फ बर्बाद करेगा . और जो देशभक्ति की दुहाई दे रहे है देश के सबसे बड़े गद्दार कह्लाय्न्गे

Indo-pak war