बहुजन समाज का अपमान करने वाली सपना नचनिया को मैं कभी माफ नहीं करूंगा।: सतपाल तंवर
| 24 Apr 2019

. बहुजन समाज का अपमान करने वाली सपना नचनिया को मैं कभी माफ नहीं करूंगा।

जज साहब सपना डांसर को जेल भेजो। इसने जातिसूचसक गाली देकर मेरे बहुजन समाज को अपमानित किया है। --नवाब सतपाल तंवर।

चंडीगढ़। हरियाणा की मशहूर रागिनी गायिका और डांसर सपना चौधरी के द्वारा गाई गई जातिसूचसक रागिनी मामले में पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट में सुनवाई हुई। वर्ष 2016 में सपना चौधरी ने गुरुग्राम के गांव चक्करपुर में एक रागिनी गाई थी। जिसपर विवाद खड़ा हो गया था। रागिनी की एक वीडियो क्लिप के आधार पर हरियाणा के मशहूर दलित नेता और अखिल भारतीय भीम सेना के संस्थापक नवाब सतपाल तंवर ने केस दर्ज करा दिया। बड़ी मुश्किलें झेलने के बाद सपना चौधरी को हाई कोर्ट से अग्रिम जमानत मिल पाई थी। जमानत पाने के लिए सपना को जहर खाने का झूठा बवंडर तक करना पड़ा था। इसके बाद सपना सुर्खियों में आ गई थी। सतपाल तंवर पर सपना चौधरी को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप लगे थे। हालांकि अदालत के जांच में तंवर पर लगाए गए आरोप साबित नहीं हो पाए और तंवर पर दर्ज केस खारिज कर दिए गए थे।

अब इस मामले में नया मोड़ आ गया है। दरअसल सपना चौधरी ने हाईकोर्ट में एक याचिका दाखिल करके एफआईआर को खारिज करने की मांग की थी। जिसपर आज सुनवाई हुई। शिकायतकर्ता नवाब सतपाल तंवर ने स्वयं अदालत में पेश होकर कहा कि ये मामला अति गंभीर है और जाति विशेष से जुड़ा हुआ है। तंवर ने दलील दी कि अनुसूचित जाति से जुड़ी किसी भी जाति का जातिसूचसक शब्दों से अपमान करना अनुसूचित जाति/जनजाति अधिनियम के तहत घोर अपराध है। इस अपराध के लिए सपना डांसर को जेल होनी चाहिए। तंवर ने अदालत के समक्ष कहा कि जज साहब सपना ने मेरे बहुजन समाज को गाली दी है। नाक भी रगड़ लेगी तो भी इसे मैं कदापि माफ नहीं करूंगा। सतपाल तंवर ने अदालत के समक्ष कहा कि सपना डांसर को तुरंत प्रभाव से जेल भेज दिया जाए। समाज में सपना डांसर एक कलंक है।

तंवर की दलीलों को मद्देनजर रखते हुए पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट ने हरियाणा सरकार को जवाब देने के आदेश जारी किए हैं। तंवर ने बताया कि गुरुग्राम अदालत में सपना चौधरी का केस दायर किया जा चुका है। तंवर ने बताया कि जो अपराध सपना ने किया है उसका मजबून जेल है। इसे एक बार जेल तो जाना ही पड़ेगा।