दुनिया की सबसे बड़ी लिफ्ट सिंचाई परियोजना: KLIP - पैकेज 8 पम्पिंग स्टेशन का निर्माण किया
| 12 Aug 2019

हैदराबाद, भारत, 10 अगस्त, 2019 /PRNewswire/ -- दक्षिण भारत के एक शुष्क राज्य तेलंगाना का एक बहुप्रतीक्षित सपना अब साकार हो गया है। इस क्षेत्र के लोगों की पानी संबंधी चिंताएं जल्दी ही दूर हो जाने वाली हैं क्योंकि Kaleshwaram Lift Irrigation Project (KLIP) अब प्रचालन के लिए पूरी तरह से तैयार है। करीमनगर जिले के लक्ष्मीपुर गांव में रामाडुगू में प्रतिष्ठित Kaleshwaram Lift Irrigation Project (KLIP) पैकेज 8 पम्पिंग स्टेशन की क्रिटिकल स्टेज, गोदावरी नदी बेल्ट में जलाशयों में वर्षपर्यन्त पानी का लाइव स्टोरेज सक्षम बनाएगी। KLIP का केंद्रबिंदु माना जाने वाला यह विशाल पम्प हाउस, इंजीनियरिंग का एक असाधारण चमत्कार है, क्योंकि इसमें जमीन की सतह से 330 मीटर नीचे दुनिया का सबसे बड़ा भूमिगत पम्पिंग स्टेशन बनाया गया है। सिंचाई के लिए पानी की रिइन्फोर्स्ड स्टोरेज द्वारा उपलब्धता, भूमिगत जल स्तरों में वृद्धि, तथा सहायक कृषि गतिविधियों, मछली पकड़ने, पर्यटन आदि के लिए लोगों हेतु आजीविका के अवसरों में वृद्धि करते हुए यह पूरे तेलंगाना राज्य का रंगरूप बदल देगा। यह अद्वितीय पम्प हाउस गोदावरी के पानी की उसी नदी में रिवर्स पम्पिंग के द्वारा प्रवाह क्षेत्र में पड़ने वाले शुष्क क्षेत्रों को नया जीवन प्रदान करेगा।
पैकेज 8 भूमिगत पम्प हाउस के बारे में बताते हुए Mr B. Srinivas Reddy, डायरेक्टर, MEIL, ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि, "यह एक असाधारण भूमिगत पम्प हाउस है, जो दोहरी सुरंगों और दुनिया में सबसे बड़े सर्ज पूल के साथ जमीन से 330 मीटर नीचे स्थित है। यह विश्व की एक अल्ट्रा-मेगा परियोजना है, जिसमें 139 मेगावाट प्रत्येक क्षमता वाले 7 मोटर लगे हैं। ये मोटर रोजाना 2 TMC पानी उठा सकते हैं। यह 'मेक इन इंडिया' का बेहतरीन उदाहरण है, क्योंकि इन विशालकाय मोटरों को computational fluid dynamics (CFD) तकनीक के साथ देश में ही विकसित किया गया है। KLIP की सबसे प्रमुख विशेषता ये है कि इसे 3057 MWs क्षमता वाले इलेक्ट्रिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर के साथ निर्मित करते हुए पूरा किया गया है, जिसमें छह 400KV और 220KV के सबस्टेशन, ट्रांसफार्मर और 260 किलोमीटर ट्रांसमिशन लाइनें, 7 किलोमीटर 400 KV XLPE भूमिगत केबल शामिल हैं। किसी भी मापदंड पर यह दुनिया की सबसे नवीनतायुक्त मेगा परियोजना है और इस विशाल कार्य को पूरा करने का श्रेय MEIL को जाता है।"
भूमिगत कार्य की अवसंरचना और आकार, हैरान कर देने वाला है। पम्पहाउस के आसपास विचरण करते हुए आपको कई फ्लोर वाले एक विशाल भूमिगत शॉपिंग मॉल जैसी अनुभूति होगी। आमतौर से लिफ्ट सिंचाई परियोजनाओं के लिए पम्प हाउस, अपेक्षाकृत अधिक ऊंचाई तक पानी पम्प करने के लिए नदी तटों के निकट जमीन के स्तर पर बनाए जाते हैं। हालांकि यह अद्वितीय सुपर स्ट्रक्चर, जो कि दुनिया में अपने प्रकार की पहली है, 2 TMCs पानी प्रतिदिन पम्पिंग क्षमता के साथ जमीन के लगभग एक-तिहाई किलोमीटर नीचे एक स्थान पर बनाई गई है।
आने वाले पानी को भूमिगत स्तर से ऊपर लाने के लिए पम्पहाउस तथा सर्ज पूल बनाने के लिए बहुत विशालकाय भूमिगत गुफाओं की खुदाई की गई। वहां से पानी उठाने के लिए पम्प और मोटरें स्थापित किए गए। वैज्ञानिक और तकनीकी आधारों पर इस मानव-निर्मित करिश्मे को साकार करने के लिए जमीन की सतह से 330 मीटर नीचे से 21.6 लाख CuM मिट्‌टी खोदी गई, और 4.75 लाख क्यूबिक मीटर कांक्रीट का उपयोग करके पॉवर हाउस बनाया गया।
दुनिया में कहीं भी 140 मीटर गहराई, 25 मीटर चौड़ाई और 65 ऊंचाई वाले आकार के साथ इतनी विशालकाय गुफा नहीं बनाई गई है। पम्पहाउस सर्विस बे, जमीन से 221 मीटर नीचे स्थित है, जबकि पम्प बे 190.5 मीटर पर, ट्रांसफार्मर बे 215 मीटर पर, कंट्रोल रूम 209 मीटर गहराई में क्रमशः जमीन के अंदर स्थित हैं। इस पम्पहाउस में दोहरी सुरंगें पास-पास बनाई गई हैं। प्रत्येक सुरंग की लंबाई 4,133 मीटर और व्यास 10.5 मीटर है। प्रत्येक मोटर चलाने की 139 MW बिजली की ज़रूरत पूरी करने के लिए, 160 KVA क्षमता वाला पम्प ट्रांसफार्मर कम्प्रेसर यूनिट्‌स के साथ सफलतापूर्वक स्थापित किया गया है।
पम्प हाउस में सर्ज पूल्स, इस भूमिगत निर्माण का सबसे आश्चर्यजनक भाग हैं। निर्बाध पम्पिंग सुनिश्चित करने के लिए तीन सर्ज पूल्स, पर्याप्त पानी स्टोर करने के लिए बनाए गए हैं। 138 मीटर भूमिगत गहराई में टरबाइन पम्प स्थापित करना, इस परियोजना की एक अन्य अनूठी विशेषता है। प्रत्येक मोटर पम्प का वजन लगभग 2,376 मीट्रिक टन है और आप प्रत्येक पम्प यूनिट के विशालकाय आकार की कल्पना कर सकते हैं। इस वजह से इन मोटरों को 'बाहुबली मोटरें' कहा गया है।
ऐसे जटिल और उच्चस्तरीय इलेक्ट्रो-मैकेनिकल कार्यों में अपनी 30 वर्षों की समृद्ध विशेषज्ञता के साथ Megha Engineering Infrastructure Limited (MEIL) ने तेलंगाना राज्य की प्यास बुझाने और खेतों में समय पर पानी पहुंचाने के उद्‌देश्य से इस परियोजना को एक मिशन की तरह पूरा किया है।
B. Srinivas Reddy, डायरेक्टर, MEIL ने इस संबंध में बताया कि, "तेलंगाना के इस ड्रीम प्रोजेक्ट से जुड़कर, और दुनिया की सबसे बड़ी लिफ्ट सिंचाई परियोजना, KLIP में योगदान करके हमें अत्यन्त गौरव की अनुभूति हो रही है। दुनिया के सर्वोत्तम इंजीनियरिंग सप्लॉयरों के साथ तालमेल बनाकर विश्वस्तरीय तकनीक पर कार्य करने, और तेलंगाना राज्य में पानी के सपने साकार करने के लिए यह बड़ा सम्मानपूर्ण और जीवन का अनुपम अवसर रहा है।"