नए करियर विकल्पों और अवसरों पर जागरुकता सेमिनार का आयोजन प्रथम एजूकेशन ने ‘न्यू ऐज एप्टीट्यूड बेस्ड करियर ऑप्शन’ पर एक सेमिनार का आयोजन किया
| 05 Sep 2019

फरीदाबाद, अग्रणी टेस्ट प्रेप संस्था, प्रथम एजूकेशन ने छात्रों और उनके माता-पिता के लिए ‘न्यू ऐज
एप्टीट्यूड बेस्ड करियर ऑप्शन’ पर एक सेमिनार का आयोजन किया। इसका उद्देश्य छात्रों के बीच नए
जमाने में करियर के उपलब्ध विकल्पों के बारे में जागरुकता बढ़ाना था। इस सेमिनार में 500 से भी ज्यादा
छात्रों ने भाग लिया।

इस सेमिनार ने करियर के विकल्पों और अवसरों के लिए एक इंटरैक्टिव प्लैटफॉर्म प्रदान किया, जहां छात्र
और उनके माता-पिता करियर के विकल्पों और उनसे संबंधित संदेहों के बारे में खुलकर चर्चा कर सके। इस
सेमिनार का थीम छात्रों को एप्टीट्यूड टेस्ट के महत्व को समझाने पर जोर देता है।

श्री. बिनीत बिनोद ने इस पहल के बारे में बात करते हुए कहा कि, “एक व्यक्ति तभी खुश रह पाता है जब
वह अपने पसंद का काम करता है इसलिए अपने करियर का चुनाव सोच-समझकर करना चाहिए।
एप्टीट्यूड को मजबूत बनाने के लिए कम उम्र से ही अभ्यास शुरू करना जरूरी है। हर छात्र अच्छे कॉलेज में
प्रवेश पाने के सपना देखता है।”

पिछले कुछ सालों में, अधिकांश प्रवेश परीक्षाओं में सब्जेक्टिव पैटर्न की जगह अब एमसीक्यू (मल्टिपल
चॉइस क्वेश्चन) पैटर्न का इस्तेमाल किया जाने लगा है। ऑल इंडिया लॉ प्रवेश परीक्षा क्लैट, दिल्ली
यूनिवर्सिटी डीयू-जेएटी एग्जाम, आईआईएम इंदौर और आईआईएम रोहतक का 5 सालों का मैनेजमेंट
प्रोग्राम (आईपीएम) और नैशनल काउंसिल ऑफ मैनेजमेंट और केटरिंग टेक्नोलॉजी (एनसीएचएमसीटी) इस
प्रमुख बदलाव के बड़े उदाहरण हैं। इस नए पैटर्न के जरिए न सिर्फ छात्रों के ज्ञान का विश्लेषण किया जाता है
बल्कि यह भी देखा जाता है कि छात्र निर्धारित समय में सभी सवालों का जवाब ठीक से दे पाता है या नहीं
और इसी टेस्ट के जरिए उसके सोचने-समझने की क्षमता को भी टेस्ट किया जाता है।

श्री. अमनदीप राजगोत्रा ने बताया कि, “बदलते समय के साथ छात्रों के लिए अपने कौशल को बढ़ाना और
मजबूत करते रहना जरूरी हो गया है। आज अवसरों के दौर में सबसे अलग दिखना सबकी जरूरत बन गई
है, इसलिए किसी भी प्रतियोगिता को क्रैक करने के लिए व्यक्ति में दृढ़ संकल्प, साहस और उत्साह होना
बहुत जरूरी है। न्यू ऐज एप्टीट्यूड बेस्ड करियर ऑप्शन एक ऐसा मंच है जो छात्रों को सही करियर विकल्प
चुनने में और अपने फील्ड में आगे बढ़ने में मदद करेगा।”

प्रथम एकमात्र संस्थान है जो पिछले 11 सालों से लगातार अच्छे परिणाम देता रहा है। प्रथम ने विभिन्न
क्षेत्रों में उपलब्ध करियर के अवसरों पर चर्चा करने के लिए इस सेमिनार का आयोजन किया। शिक्षा के क्षेत्र
में 9 सालों के अनुभव के साथ प्रथम के लॉ प्रॉडक्ट हेड, श्री. अमनदीप राजगोत्रा, जो एनएएलएसएआर

यूनिवर्सिटी ऑफ लॉ के पूर्व छात्र हैं और श्री. बिनीत बिनोद (बीआईटी, एमईएसआरए,