तीन हिन्दू एक मुस्लिम ,डॉ प्रियंका रेड्डी के हत्यारे और बलात्कारी चिमियानंद के रिश्तेदार
| 29 Nov 2019

जन उदय : लडकियो के बलात्कार और हत्याए होते है लेकिन उनको शायद ही न्याय नहीं मिलता हो
हैदराबाद की डॉ. प्रियंका का बलात्कार और निर्मम हत्या ने साबित कर दिया है की सरकारे और कानून अपराधियो का कुछ नहीं कर सकते .अगर कर सकते तो उत्तर प्रदेश का चिमियानंद काण्ड ऐसी मिसाल है जिस पर कोई भी महिलावादी और भाजपाई बोलने को तैयार नहीं है और इससे लगता है की ये लोग अपराध में शामिल हो जाते है अपनी चुप सहमती दे कर और इसलिए कह सकते है की ये सारे अपराधी चिमियानंद हो या डॉ. प्रियंका के हत्यारे ये दोनों चोर चोर मौसरे भाई है

एक मंत्री महमूद अली ने यह कह कर की उसने अपनी बहन को फोन किया लेकिन पुलिस को नहीं एक बहस और छेड़ दी है
बहन को कॉल न करके पुलिस को फोन करने से प्रियंका को कितना फायदा पहुँचता? शायद कुछ भी नहीं! क्यों? क्योंकि उसी पुलिस ने "बेटी किसी लड़के के साथ तो नहीं भाग गई" से लेकर "इलाका मेरे अंदर नहीं" तक का बहाना बनाया।

हैदराबाद के शमसाबाद में हुए प्रियंका रेड्डी हत्याकांड पर जहाँ आज पूरा देश आक्रोशित है और गुनहगारों के लिए कड़ी सी कड़ी सजा की माँग कर रहा है। वहीं, तेलंगाना के गृहमंत्री महमूद अली ने इस मामले पर ऐसा बयान दे दिया है, जिसे सुनकर सोशल मीडिया पर हर ओर उनकी थू-थू हो रही है। दरअसल, इस पूरे मामले को महमूद अली ने अपने बयान से एक नया एंगल देने की कोशिश की है।

लेकिन भगवा आतंकी संगठन इसे धार्मिक रूप देने की कोश्सी कर रहे है और देश में तनाव पैदा करना चाहते है जबकि अपराधियो में चार में से तीन हिन्दू और एक मुस्लिम है यह पहचान बताई जा रही है
और अगर इन्हें हिन्दू लडकियो की इतनी चिंता है तो ये उन्नाव रेप पीडिता को क्यों नहीं न्याय दिलवाते , चिमियानंद जेल से बहार और पीड़ित लड़की जेल में क्यों है ?? दरसल ऐसे लोग सिर्फ देश को तोडना चाहते है और ऐसे लोग देश और समाज के सबसे बड़े दुश्मन है
Dr. Priynka Rape and Murder Hydrabad