कोरोना वायरस से भारत में सकती है दस से पन्द्रह करोड़ मौत .
| 25 Mar 2020

जन उदय : दुनिया के इतिहास में ही नहीं भारत के इतिहास में सदीओ से न जाने ऐसे कितने हालात आये है जब समाज और देश के सभी लोगो ने मिल कर अपनी जान कुर्बान कर दी और वो भी सिर्फ इसलिए कि उनकी संताने , उनका समाज , उनका परिवार और उनका देश जिन्दा रह सके

लेकिन ज जाने आज इस देश के लोगो को क्या हो गया है की कुछ लोग न तो इन्हें अपनी जान की परवाह है और न ही अपने परिवार की और न देश और समाज की जानना नहीं चाहेंगे ऐसे कौन लोग है ?? जो खुद को ही नहीं बल्कि हजारो लाखो लोगो की मौत का कारण बनना चाहते है ??

जी हाँ ऐसी वो लोग है जो इस महामारी के संकट में अपने घरो से निकला कर अपने समाज में और सडको पर घूम रहे है , यह बात अलग हो सकती है की इनको कोई संक्रमण न हो लेकिन इन्हें किसी और से यह संक्रमण हो सकता है और इसके बाद ये जितने लोगो से मिलंगे उनको होगा ये संक्रमण फिर इनके परिवार को और धीरे धीरे सिर्फ एक आदमी की गलती से या संक्रमण समाज में महामारी का रूप ले लेगा यानी हजारो , लाखो लोग की मौत
इसीलिए प्रधानमन्त्री ने ने कहा है की लोग घर से न निकले और इस महामारी से निपटने का ये ही एक तरिका है बाकी कोई और कुछ नहीं पुरी दुनिया में यह संक्रमण फैला है पूरी दुनिया से आने वाली तस्वीरे काफी डराने वाली है क्योकि कई देशो में कोरोना वायरस से मरने वाले मरीजो को खुला सडक पर मरने के लिए छोड़ दिया गया है क्योकि इन देशो के पास इतने डॉक्टर और अस्पताल है ही नहीं ऐसे में सिर्फ एक ही तरिका है की लोग घर से निकले और सोशल डिस्टेंस बना कर रखे

अगर भारत में यह महामारी तीसरी स्टेज में आ जाती है तो आप समझ लीजिये की भारत में मरने वालो की संख्या दस से पन्द्रह करोड़ कम से कम होगी और यह भी कोई गारंटी नहीं की इसके बाद भी यह महामारी रुक जाएंगी , सडको पर आप जहा जहा तक देख पायंगे सिर्फ लाशें ही लाशें दिखाई देंगी फैंसला आपके हाथ है आप अपने अपने परिवार और समाज के लोगो की मौत का कारण बनना चाहते है या अपने देश और परिवार को बचाना चाहते है
कृपया अपने फोन , ईमेल , व्हात्सप से सभी को जागरूक करे और अपने घर पर ही रहे

possible death in India due to corona virus