कोरोना युग : ये षड्यंत्र से बाज नहीं आते :फेसबुक , ट्विटर न होता तो विपक्ष के होने का अहसास ही न होता
| 17 May 2020

जन उदय : पूरी दुनिया महामारी की चपेट में है लेकिन पूरी दुनिया का सत्ता पक्ष अपनी राजनीती चमकाने में ही लगा है लेकिन इसके साथ साथ लोकतंत्र की ख़ूबसूरती जो विपक्ष ले कर आता है या बनाता है वह भारत से बिलकुल गायब है यानी विपक्ष के नाम पर सिर्फ कांग्रेस और राहुल गाँधी को मीडिया में दिखाया जा रहा है
जो की मानो या न मानो एक षड्यंत्र से कम नहीं

राहुल गांधी विडियो प्रेस मीट करता है इधर सरकार करती है लेकिन महाराष्ट्र से लेकर गुजरात पंजाब उत्तर प्रदेश और दक्षिण भारत उत्तर भारत के मीडिया पटल से बिलकुल गायब है हलांकि ये लोग उती ही शिद्दत और मेहनत से इस करोना संकट से लड़ने में जुटे हुए है जितना की सरकार और अपने विपक्ष होने का पूरा पूरा धर्म निभा रहे है

समाजवादी पार्टी और खुद अखिलेश यादव संकट की इस घड़ी में हर खबर पर अपनी नजर बनाए हुए है और सरकार को हर गड़बड़ी के बारे में चेता रहे है लेकिन कैसे ? फेसबुक और ट्विटर के माध्यम से ही ये सब पता चल रहा है . ठीक यही हाल बहुजन समाजवादी पार्टी का है इनके भी बस फेसबुक ट्विटर मेसेज ही दिखाई देते है लेकिन ये लोग राष्ट्रिय मीडिया से गायब है

संकट की इस घड़ी में मीडिया का इस तरह का वव्हार बहुत ही अनुचित ही लगता है जो की इनके लिहाज से बड़ा ही सामान्य है