गुजरात ,वेंटीलेटर घोटाला : गुजरात के मुख्यमंत्री ने स्वास उपकरण को बताया वेंटीलेटर ,बड़ा घोटाला संभव
| 18 May 2020

जन उदय : वैसे तो कोरोना माहामारी के समय में भी लोग किसी ने किसी तरह से सिर्फ पैसा कमाने में लगे है , सामानों की कालाबाजारी कही तो कही अस्पतालों में नकली टेस्टिंग की के मामले सामने आये और अब गुजरात से बड़ा ही चोंकाने वाले मामला सामने आया है जहा पर मुख्मंत्री रुपानी ने मामूली से स्वास उपकरण को वेंटीलेटर बता कर पहले खूब वा वाही लूटी पोल खुलने पर दे रहे है जांच के आदेश

मामला चार अप्रैल का बताया जा रहा है जब मुख्मंत्री ने अहमदाबाद के एक कोविद अस्पताल में जा कर वहा पर एक वेंटीलेटर धमन १ का उद्घाटन तक कर दिया और साथ में बयानबाजी भी की यह वेंटीलेटर राजकोट में ही बनाया गया है और हमारे प्रधानमंत्री नरेंदर मोदी के सपने मेक इन इंडिया को पूरा करता है इसके कुछ प्रेस नोट भी सामने आ गए

इसके बाद जब शहर में वेंटीलेटर की जरूरत पड़ी तो सम्बन्धित कम्पनी ज्योति सी एन सी को वेंटीलेटर लगाने को कहा गया तो सभी मेडिकल स्टाफ हैरान हो गए की यह तो मामूली सा स्वास उपकरण है जिसमे ओक्सिजन सिलिंडर लगा कर चलाया जा रहा है

इसके बाद जब पोल खुली तो लिपा पोती शुरू हो गई और मुख्यमंत्री ऑफिस से कहा गया कि नहीं यह सिर्फ स्वास उपकरण है हमने इसे वेंटीलेटर कभी नहीं कहा इसके बाद अहमदाबाद मिरर जो लगातार इस खबर पर नजर बनाए हुए था और लगातार इसको कवर कर रहा था , उसने वो प्रेस नोट भी सब्सके सामने रख दिए जिसमे विजय रुपानी प्रधानमंत्री की तारीफ़ कर रहे थे और कहा गया था यह स्वेदेशी वेंटीलेटर है

इसके बाद अहदाबाद के कलेक्टर का आनन् फानन में बिना किसी जांच के तबादला कर दिया गया है
ज्योति सी एन सी के सी ई ओ प्रक्रमण सिंह जडेजा का कहना है लोग तथ्यों को तोड़ मरोड़ का सामने रख रहे है हमने कभी नहीं कहा धमन १ पूर्ण वेंटीलेटर है बल्कि हम धमन ३ जो पूर्ण रूप से वेंटीलेटर होगा अभी बना रहे है
एक बात यह बता दे धमन १ की कीमत एक लाख रूपये बताई गई है और मुख्यमंत्री ने ऐसा क्यों किया क्यों वो इस कम्पनी को प्रमोट कर रहे थे और ऐसी क्या जल्दी थी की बिना एक्सपर्ट की राय लिए मुख्यमंत्री इसका उद्घाटन करने भी पहुच गए

यह पूरी खबर अहमदाबाद मिरर की आज की मुख्य खबर है खबर को वही से लिया गया है ,

fake ventilator in gujrat ,Jyoti CNC ,Vijay Rupani inagurted fake ventilator