पी एम् केयर फण्ड से ये सब हो सकता है लेकिन नहीं किये गए : एडिटर्स पोस्ट वाया मिनाज
| 22 May 2020

पीएम केयर्स में एक अनुमान के मुताबिक 9677.9 करोड़ रुपये जमा हैं। ये रकम 28 मार्च से लेकर अभी तक के 54 दिन में जमा हुई है।

इस पैसे से डॉक्टरों, नर्सों के लिए 14.5 करोड़ PPE, 20 करोड़ N95 मास्क ख़रीदके जा सकते हैं।

इस पैसे से निजी लैब्स में कोरोना के करीब 2.25 करोड़ टेस्ट हो सकते हैं। अभी तक भारत ने सिर्फ 24 लाख टेस्ट ही किये हैं।

पीएम केयर्स के पैसे से करीब 14 करोड़ प्रवासी मज़दूरों के ट्रेन टिकट्स खरीदे जा सकते हैं।

फण्ड का पूरा हिसाब यहां देखिये-

इसमें 2098.2 करोड़ रुपये अलग-अलग संस्थागत स्रोतों से और 7855 करोड़ रुपये सरकारी विभागों से जमा की गई है।
एडिटर्स पोस्ट ने यह जानकारी PIB की विज्ञप्तियों, मीडिया रिपोर्ट्स और निजी कंपनियों से मिली जानकारी के आधार पर जुटाई है।

13 मई को पीएम केयर्स से 3100 करोड़ रुपये कोरोना से निपटने के लिए जारी हुए थे। यह इस कोष की कुल राशि का 32% है।

एडिटर्स पोस्ट की यह जानकारी इसलिए अहम है कि इस कोष में चंदा देने वालों की कोई जानकारी सार्वजनिक नहीं है।
न ही इस कोष से खर्च रुपये की जानकारी दी गयी है।

9677.9 करोड़ में 4308.3 करोड़ रुपये सरकारी कर्मचारियों की सैलरी और अन्य एजेंसियों से आई है।
5369.6 करोड़ रुपये CSR से आये हैं। मोदी सरकार की अपील पर विभिन्न दानदाताओं ने 1250 करोड़ रुपये इस फण्ड में जमा करवाये हैं।

निजी कंपनियों ने 772.4 करोड़, बॉलीवुड की हस्तियों ने 53.8 करोड़ के अलावा दो विदेशी कंपनियों-फेयर फैक्स फाइनेंसियल होल्डिंग्स और रूसी हथियार निर्माता कंपनी रोसोबोरोनॉएक्सपोर्ट ने मिलकर 22 करोड़ रुपये जमा किये हैं।

PM Care Fund Reality